संपर्क करने के लिये क्या ज़रूरी है

घबरायें नहीं: CE5 प्रोटोकॉल के साथ हजारों संपर्क के अनुभव हैं और उनमें से किसी ने भी परलौकिक (ET – extra terrestrial) के साथ प्रतिकूल बातचीत की सूचना नहीं दी है।  किसी अनुभव से अनजान होने का डर एक आम बात है लेकिन इसे उत्साह में बदला जा सकता है। संपर्क बनाने के डर आड़े आयेगा; जबकि प्यार, शांति और आनंद के उच्च स्पंदन संपर्क का अनुभव करने के लिए प्रोत्साहित करेंगे। 

संपर्क बनाने के लिए CE5 ग्रुप का जुटना अत्यंत ही महत्वपूर्ण है।  एक गूँजते हुये चक्र में मन और हृदय का एक साथ प्रवेश करना, आसानी से सुलभ समय-अंतराल का पात्र बनाता है। 


सम्पर्क बनाने के तीन माध्यम हैं।  इनमें से, विचार कहीं अधिक महत्वपूर्ण है। 

विचार

CE5 की टीम CTS (Coherent Thought Sequencing) अर्थात “स्पष्ट विचारों का अनुक्रमण” का अभ्यास करती है।  चेतना की एक शांत, केंद्रित स्थिति को प्राप्त हो जायें।  आप सचेत मन की असीम अवस्था में हैं। उस अवस्था में जाने के लिये अनगिनत ध्यान-समाधि की तकनीकें हैं, जिनमे से कुछ हम अपनीं कार्यशालाओं में सिखातें हैं। 

फिर अपनी मन की आँखों को अपने स्थान से सौर मंडल और आकाशगंगा से होते हुये गहरे अंतरिक्ष तक ले जायें।  जब आप किसी अंतरिक्ष यान से मिलते हैं तो पृथ्वी के दूत के रूप में अपना परिचय दें।  उन्हें अपने स्थल पर आमंत्रित करें और आकाशगंगा से हमारे सौर मंडल के तीसरे ग्रह, पृथ्वी, की दिशा में इशारा करें।  अपने महाद्वीप में ज़ूम करते हुये और उन्हें मानसिक-दृश्य के माध्यम से अपने स्थान पर निर्देशित करें, उन्हें अपने मन की आँखों में अपनी टीम दिखायें।

इस आमंत्रण इस कार्यक्रम के आयोजन के समय और तारीख़ के साथ कुछ दिन पहले भेजें। 

आपकी मन: स्थिति महत्वपूर्ण है। अपने मन का ध्यान केंद्रित करने के लिये प्रशिक्षण अत्यंत आवश्यक है ताकि वह प्यार, शांति और एकात्मकता के उच्चतम संभावित इरादे प्राप्त कर सके। गरिमापूर्ण विनम्रता और स्थिरता की स्थिति का मनोभाव, संपर्क को आमंत्रित करने में मूल्यवान है।

हमेशा इस बात पर जोर दें कि सुरक्षित और उचित हो तो ही वे आपसे मिलें

प्रकाश

कभी-कभी यह पाया गया  है कि परलौकिक वाहन (ETV – extraterrestrial vehicles) समारोहों में दिखाई देते थे, जो आकाश में लेज़र प्रकाश के चमक का उपयोग करते थे। कभी कभी CE5 की संपर्क टीम ETV को अपनी स्थिति दिखाने के लिये लेज़र किरण का प्रयोग करती है।  आजकल, लेज़र किरण से पायलट की आँखें चकाचौंध होने के खतरे से, हमने आकाश में कहीं भी कुछ भी चमकाना बंद कर दिया है। भूतकाल में जब कभी टीम ने ETV को प्रकाश द्वारा संकेत भेजें हैं , ETV ने भी वैसी ही प्रतिक्रिया दी है। 

ध्वनि

टीम ने ध्वनि-स्वर का प्रसारण किया था जो मूल रूप से इंग्लैंड में एक फसल चक्र में एक संपर्क कार्यक्रम के दौरान रिकॉर्ड किए गए थे।  ये ध्वनि-स्वर जो हमने रिकॉर्ड किये थे, एक परलौकिक तकनीक के हिस्से हैं और हम उन्हें ही प्रसारित कर रहें हैं।  क्यों ? कल्पना करो की आप किसी और के घर गये  हैं और दीवार पर कुछ तसवीरें लगी हुईं हैं।  क्या आपको उन तस्वीरों में रूचि होगी ? थोड़ी बहुत शायद ? लेकिन अगर उन तस्वीरों में से एक तस्वीर आप ही की है, तो क्या अब आपको रूचि होगी ? उन्हीं की तकनीक को उन्हें ही प्रसारित करना अर्थात हमारे घर की दीवार पर उनकी तस्वीर लगाने जैसा ही है। 


 

 

पृथ्वी से ब्रह्मांड के अंत तक यात्रा का प्रतिरूप

सूर्य से तीसरे ग्रह (पृथ्वी) से सौर मंडल और आकाशगंगा से होते हुये अंतरिक्ष तक की यात्रा का आनंद लें। 

हमारा सुझाव है कि आप इन वीडियो को फुल स्क्रीन मोड में देखें।

https://www.youtube.com/watch?v=MkRSmynqonM

इस एनीमेशन में हम ESO (यूरोपियन सदर्न ऑब्जर्वेटरी) सुपरनोवा तारामंडल से मुक्त होते हैं, गार्शिंग से ऊपर उठते हैं, और फिर म्यूनिक, जर्मनी और फिर  पृथ्वी से भी । दर्शक तेज़ी से सौर मंडल से और फिर आकाशगंगा से बाहर आकर, अंततः असंख्य आकाशगंगाओं का प्रत्यक्ष करता है।

https://youtu.be/i1ppEg7LTFc

अंतरिक्ष इंजन ब्रह्मांड प्रतिरूप : पृथ्वी से ब्रह्मांड तक